Best Strategy of Moving Average Indicator in Hindi 2024

आज के इस लेख में हम moving average indicator in hindi के अलग- अलग startegy के बारे में जानेंगे | वैसे हमने moving average के ऊपर पहले भी एक लेख लिख रखा है, पर यह लेख पिछले वाले लेख से काफी अलग होगा |

इस लेख में पूरा स्ट्रैटेजी के ऊपर बात की जाएगी, जिसमे हम moving average का इस्तेमाल करके investing, positional trading, इंट्राडे ट्रेडिंग और स्विंग ट्रैडिंग कैसे कर सकते हैं इसके बारे में जानेंगे | 

Strategy of moving average indicator in hindi

वैसे देखा जाए तो बहुत पहले से ही moving average के काफी सारे strategy मार्केट में उपलब्ध हैं, जैसे कि – मूविंग ऐव्रिज crossover strategy | 

crossover में भी बहुत अलग – अलग तरह के crossover होते हैं जैसे कि – golden crossover, death crossover इत्यादि | इन सब के बारे में आपको हमारे पुराने वाले लेख में मिल जाएगा | 

यहाँ पर हम थोड़ा अलग और advance strategy सीखने का प्रयास करेंगे, जो आपको जल्दी स्टॉक मार्केट में कामयाब और पैसा बनाकर जरूर देंगे | 

moving average indicator in hindi

Moving Average strategy for positional trading / Investment 

moving average indicator in hindi कि यह हमारी पहली स्ट्रैटिजी है | इस moving average स्ट्रैटिजी से हम positional trading भी कर सकते हैं और साथ – साथ investment के निर्णय भी ले सकते हैं | 

इस moving average स्ट्रैटिजी के लिए हमे तीन मूविंग ऐव्रिज कि जरूरत पड़ेगी और तीनों ही simple moving average होंगे और तीनों कि values अलग – अलग होंगी | 

सबसे पहले हमे चार्ट पर तीन मूविंग average डाल लेने हैं | अब आते हैं इनके values पर, एक मोकिंग ऐव्रिज की वैल्यू 20 रखनी है, दूसरे मूविंग ऐव्रिज की वैल्यू 50 और तीसरे मूविंग ऐव्रिज की वैल्यू 200 रखनी है | 

अब बात आती है कि हमे खरीदना कब है, तो जब 200-day वाला मूविंग ऐव्रिज सबसे ऊपर हो, फिर उसके बाद 50-day वाला मूविंग ऐव्रिज हो और आखिरी में 20-day वाला मूविंग ऐव्रिज हो और शेयर का प्राइस सबसे नीचे हो तब जाकर आपको उस शेयर को खरीदना है  पर इसमे भी आपको एक बात का ध्यान रखना है।

अगर आप यह देखकर किसी शेयर में निवेश करने का निर्णय लेते हैं तो आप मुश्किल में पड़ सकते हैं, क्यूंकी ऐसा सेटअप बनने के बाद भी शेयर का प्राइस नीचे गिरते रहता है, तो ऐसे में आपको करना क्या है | 

जैसा कि आप जानते हैं  अगर कोई भी शेयर 200 डे मूविंग एवरेज के नीचे आ जाता है तो वह यह दर्शाता है कि यह शहर डाउन ट्रेंड में जा चुका है और काफी समय तक यह डाउनट्रेंड में रह सकता है | इसलिए आपको कुछ अलग पैटर्न को ढूड़ना चाहिए | चलिए जान लेते हैं उन पैटर्न के बारे में | 

  • ऐसा सेटअप बनने के बाद आपको सबसे पहले यह देखना है कि शेयर अपने हाई से कितने नीचे आ गया है | अगर शेयर अपने हाई से 25%, 33% से 37% और 50% तक नीचे आ गया है तो आप इसे खरीदने का सोच  सकते हैं | 
  • दूसरा चीज जो आप यह सेटअप बनने के बाद देख सकते हैं वह है इसका सपोर्ट कहाँ पर है, क्यूंकी अधिकतर समय ऐसा होता है कि सेटअप बनने का बाद यह तब तक नीचे जाता है जब तक इसे एक अच्छा सपोर्ट नहीं मिल जाता, फिर उसके बाद यह ऊपर जाता है | 
  • तीसरा चीज जो आपको देखना है वो है बुलिश कैन्डल्स्टिक पैटर्न जैसे कि – सपोर्ट के पास हैमर बन जाए, बुलिश एंगुल्फिनग पैटर्न बन जाए या फिर बुलिश हारामी पैटर्न बन जाए |  
  • चौथा चीज जो आप देख सकते हैं वह है – rsi का बुलिश divergence | rsi बुलिश divergence में यह होता है कि प्राइस का नया लो पिछले वाले लो से नीचे होता है पर rsi का नया लो पिछले वाले लो से ऊपर होता है | 

अगर आपको यह नहीं समझ आया है तो इसका चित्र में नीचे दे रहा हूँ, जिससे कि आप आसानी से समझ सके |  

RSI bullish divergence use with Moving Average indicator in Hindi
RSI bullish divergence

अगर यह चार चीज आपको देखने को मिल जाती है तो आप अपने निवेश का निर्णय ले सकते हैं | अगर आपको और ज्यादा sure होना है तो आप निवेश करने से पहले प्रमोटर होल्डिंग और pledging देख सकते हैं | 

इसके अलावा  आप  उस शेयर से संबंधित न्यूज भी देख सकते हैं | अगर हाल ही में कोई positive न्यूज है तो आप उसमे निवेश करने का सोच सकते हैं अगर न्यूज अच्छी नहीं है तो निवेश नहीं से बच भी सकते हैं | 

अब बात आती है आपको इस सेटअप या स्ट्रैटजी से किन शेयरों में निवेश करना तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि आप इस स्ट्रैटजी से large कैप और मिड कैप वाले स्टॉक में निवेश कर सकते हैं, जिनका बिजनस और fundamental अच्छा है | 

इसके अलावा आप यह भी देख सकते हैं कि क्या वह कंपनी  लगातार अच्छा परफॉर्म कर रही है कि नहीं। उसके सेल्स में बढ़ोतरी हुई है या नहीं उसके प्रॉफिट में इजाफा हुआ है की नहीं । यह सब भी आप निवेश करने से पहले देख सकते हैं ।

इस strategy की महत्वपूर्ण बातें

अगर आपने पूरी स्ट्रैटिजी को नहीं पढ़ा है तो इसे जरूर पढ़ लीजिए, क्यूंकी इसमे पूरी स्ट्रैटिजी का निजोर है |

  • आपको इस स्ट्रैटिजी को सिर्फ largeकैप और bluechip companies के स्टॉक में ही अप्लाइ करना है |
  • स्टॉक तभी खरीदे जब वह या तो अपने सपोर्ट के पास हो या फिर किसी तरह का बुलिश कैन्डल्स्टिक बनाए |
  • इस स्ट्रैटिजी में आपको तीन सिम्पल मूविंग ऐव्रिज (SMA) का इस्तेमाल करना है |
  • अगर आपको कहीं पर RSI divergence देखने को मिलता है, तब भी आप इस स्ट्रैटिजी के मदद से निवेश कर सकते हैं |

 Moving Average strategy for swing trading 

moving average indicator in hindi  का यह हमारा  दूसरा ट्रेडिंग स्ट्रैटेजी है, जिसकी मदद से हम  स्विंग ट्रेडिंग करना सीखेंगे।

इस स्ट्रैटेजी के लिए हमें दो  सिंपल मूविंग एवरेज की आवश्यकता होगी एक मूविंग एवरेज हमारा बड़ा वाला होगा (50-day)और दूसरा मूविंग एवरेज हमारा छोटा वाला (20-day) होगा।  यहाँ पे हम बड़ेऔर छोटे से मतलब है डेज़ (days) का।

अगर हम स्विंग ट्रेनिंग करना चाहते हैं तो हमें मोमेंटम को पकड़ना पड़ेगा  और कोई भी स्टॉक मोमेंटम तब पकड़ता है जब वह किसी ट्रेंड में हो (अपट्रेन्ड में हो या डाउनट्रेंड में हो)। बड़े दिन का मूवी एवरेज हमें ट्रेंड का बारे में बताएगा और छोटे दिन का मूविंग एवरेज से हम ट्रेड लेंगे। 

सबसे पहले हमें चार्ट पर दो मूविंग एवरेज लगा लेना है जिसमें से एक मूविंग एवरेज 50 डेज़ वाला होगा और दूसरा मूविंग एवरेज 20 डे वाला होगा।  

share market chart कैसे समझे

ज़रूरी नहीं है कि आपको 50 और 20 ही लेना है। आप 100 और 50 भी ले सकते हैं, 100 और 20 भी ले सकते हैं आप 200 और 100 भी ले सकते हैं और 200 और 50 भी ले सकते हैं | 

हर मूविंग ऐवरेज का इस्तेमाल अलग अलग  होगा, जैसे कि – 50 और 20 मूविंग ऐवरेज आपको जल्दी जल्दी ट्रेड देंगे और स्टॉप लॉस भी होंगे, दूसरी तरफ 200 और 50 मूविंग एवरेज आपको बहुत कम ट्रेड देंगे पर अच्छे ट्रैड मिलेंगे | 

cover image of Moving Average indicator in Hindi
Moving Average indicator in Hindi

बस आपको एक बात का ध्यान रखना है की एक मूविंग ऐवरेज बड़ा वाला होना चाहिए और दूसरा मूविंग ऐवरेज उससे छोटा वाला होना चाहिए।  अगर आपको moving average indicator in hindi  पसंद आ रहा है तो इस लेख को आप रेटिंग जरूर प्रदान करें | 

अब आते हैं कि आपको ट्रेड कब और कैसे लेना है । सबसे पहले आपको यह देखना है कि शेयर का प्राइस 50 डे मूविंग एवरेज के ऊपर निकला हुआ होना चाहिए,  जिससे हमें यह पता चल जाए की शेयर अब अपट्रेंड में है | 

इसके बाद हमें देखना है कि कब  शेयर प्राइस  20 डे मूविंग एवरेज के ऊपर निकाल कर वापस  20 डे मूविंग एवरेज के पास आता है ।

जब भी शेयर का प्राइस 20 डेज़ मूविंग एवरेज के पास आता है और वहाँ पर एक हरे रंग की कैंडल बनता है या कोई भी बुलिश कैंडल बनता है तब आप उसमें ट्रेड ले सकते हैं।

अगर आप इस स्ट्रैटेजी को सपोर्ट और रजिस्टेंस के साथ मिलाकर ट्रेड करेंगे तो यह आपको और अच्छे रिज़ल्ट प्रदान  करने की क्षमता रखता है।

swing trading के लिए 2nd strategy

जो स्ट्रैटिजी हमने आपको इनवेस्टमेंट के लिए बताई है, उस स्ट्रैटिजी को आप स्विंग ट्रैडिंग में भी इस्तेमाल कर सकते हैं पर इसका तरीका अलग होगा |

आपको इस स्ट्रैटिजी को उन स्टॉक में लगाना है जो अपट्रेन्ड में हो और उसमे retracement हो रहा हो, मतलब ऊपर जाने के बाद अगर स्टॉक नीचे आता है तब आपको उस स्ट्रैटिजी का इस्तेमाल करना है |

अब जबकि आप स्विंग ट्रेडिंग कर रहे हैं तो आपका टाइमफ्रेम अलग होगा, इसमे आपको 1 घंटे का टाइम फ्रेम इस्तेमाल करना है और जैसे ही सेटअप बनता है वैसे ही आप ट्रैड ले सकते हैं | अगर आपको यह लेख moving average in hindi पसंद आ रहा है तो इसे रेटिंग अवस्य प्रदान करें |

Moving Average strategy for Intraday trading

जैसा कि आप जानते हैं इंट्राडे ट्रेनिंग में आपको तुरंत buy और sell करना पड़ता है और मूविंग एवरेज एक लेगिंग इंडिकेटर होने के कारण यह आपको buy और sell सिग्नल देर से प्रदान करेगा। इसलिए आपको  इंट्राडे ट्रेडिंग में  मूविंग एवरेज से ट्रेड करने से बचना चाहिए।

आप मूविंग एवरेज के साथ दूसरे इंडिकेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं, चूंकि यह एक लैगिंग indicator है तो इसके साथ आपको एक leading indicator जैसे कि – RSI का इस्तेमाल करना चाहिए | आप पढ़ रहे हैं best strategy of Moving Average indicator in Hindi |

आगर आपको intraday trading करना ही है तो आपको simple moving average की जगह exponential moving average का इस्तेमाल करना चाहिए, क्यूंकी exponential moving average प्राइस के साथ – साथ बदलता रहता है जिससे हमे ट्रेड signal जल्दी मिलता है |

For homepage click on – bharatinvestingerabykaushal

क्या मूविंग average strategy अभी भी काम करती है?

हाँ, moving average strategy अभी भी काम करती हैं पर उसे इस्तेमाल करने का तरीका बदल गया है |

मूविंग average से हम कौन स ट्रेडिंग कर सकते हैं ?

moving average की मदद से आप स्विंग और positional ट्रेडिंग अच्छे से कर सकते हैं |

मेरा नाम कौशल कुमार है और मैं इस वेबसाईट का संस्थापक हूँ | मैं इस वेबसाईट के माध्यम से आप सभी को शेयर मार्केट की बारीक जानकारियों को बताना चाहता हूँ जिससे आप भी शेयर मार्केट से पैसे कमा सकें | मैं शेयर मार्केट में काफी समय से काम कर रहा हूँ और मेरा उद्देश है कि अपने अनुभव को आप तक पहुंचा सकूँ |

5 thoughts on “Best Strategy of Moving Average Indicator in Hindi 2024”

Leave a Comment