Ema Indicator in Hindi (सम्पूर्ण जानकारी)

अगर आप ट्रेडिंग करते हैं और Ema Indicator in hindi के बारे में जानना चाहते हैं तो आज इस लेख में हम आपको Exponential moving average indicator in hindi के बारे में बताएंगे | 

इस लेख में आप जानेंगे कि ट्रेडिंग में ema indicator को कैसे इस्तेमाल करते हैं (how to use ema in trading) और इसे कैसे लगाते हैं (how to set ema indicator) |

इसके अलावा हम आपको ema indicator strategy in hindi के बारे में भी बताएंगे जैसे कि – ema crossover strategy, ema indicator setup को पहचान कर ट्रेडिंग कैसे करें, इत्यादि | 

तो चलिए Ema Indicator in hindi को जानने का सफर चालू करते हैं | 

Ema Indicator in Hindi

Ema indicator kya hota hai in hindi

Ema  एक प्रकार का मूविंग एवरेज होता है जो सिंपल मूविंग एवरेज से बिल्कुल अलग होता है | ema का full form Exponential moving average होता है | 

ema indicator में लेटेस्ट प्राइस को ज्यादा महत्व दिया जाता है जैसे – अगर आप 10 दिन का Exponential moving average निकाल रहे हैं तो दसवें दिन के प्राइस को ज्यादा महत्व दिया जाएगा और नौवें दिन का वेटेज दसवें दिन से कम होगा | 

चूँकि ema indicator में हाल के प्राइस को ज्यादा महत्व देते हैं तो इसलिए इसमें मोमेंट भी जल्दी होती है |  यही कारण है जिससे यह प्राइस के बदलते ही तुरंत – तुरंत रिएक्शन भी देता है | 

ema indicator in hindi में प्राइस का वेटेज घटते क्रम में होता है | इसलिए अभी के प्राइस का वेटेज सबसे ज्यादा होगा और सबसे पुराने प्राइस का वेटेज सबसे कम होगा | 

इसलिए  बहुत ट्रेडर के अलग-अलग exponential moving average trading strategy होती है जिसे वह इस्तेमाल करता है जैसे कि – 9 ema indicator, 5 ema indicator, 10 ema indicator इत्यादि | 

Ema Indicator formula

अगर हमे Exponential moving average को निकालना है तो उससे पहले हमे simple moving average को निकालना पड़ेगा |

अगर आप इसे निकालना नहीं भी जानते हैं तो आपको किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी परंतु अगर आप इसे इस्तेमाल करना नहीं जानते तो आपको परेशानी हो सकती है | 

अगर आप इसका टेक्निकल पार्ट नहीं समझना चाहते हैं तो आप इसे छोड़ सकते हैं और इसे कैसे इस्तेमाल करना है उसके बारे में नीचे पढ़ सकते हैं |  

Ema Indicator in Hindi cover image
Ema Indicator in Hindi cover image

अगर आपको simple moving average indicator के बारे में जानकारी नहीं है तो आप हमारा इसके ऊपर लिखा हुआ लेख पढ़ सकते हैं | 

अगर आप 10 दिन का simple moving average निकाल रहे हैं तो उसमे आपको 10 दिन का प्राइस लेना होता है और 10 से भाग देना होता है, जिसे आप नीचे देख सकते हैं |

SMA = 10-period sum / 10

परंतु जब आप Ema Indicator in hindi को निकालते हैं तो ema indicator का formula अलग होता है | ema निकालने से पहले इसमे आपको multiplier निकालना पड़ता है |

चूँकि हम यहाँ 10 दिन का ema निकाल रहे हैं तो इसलिए हमारा टाइम पीरियड 10 होगा |

Multiplier = (2 / (Time periods + 1) ) = (2 / (10 + 1) ) = 0.0952(9.52%)

जब आपका multiplier आ जाता है तो आप नीचे दिए गए फॉर्मूले से ema को निकाल सकते हैं | 

EMA = {Close – EMA(previous day)} x multiplier + EMA(previous day).

वैसे आपको इसे निकालने की कोई जरूरत नहीं है आप इसे डायरेक्ट अपने डिमैट अकाउंट के indicator section में जाकर लगा सकते हैं | 

Ema Indicator in hindi को कैसे इस्तेमाल करें ? | How to use ema indicator ?

Exponential moving average indicator का इस्तेमाल आप 2 से 3 तरीकों में कर सकते हैं | 

  • आप Exponential moving average से स्टॉक के ट्रेंड का पता लगा सकते हैं | 
  • ema से आप अपने ट्रेड के exit का निर्णय ले सकते हैं | 
  • आप multiple Exponential moving average indicator का इस्तेमाल करके ema indicator setup से ट्रेडिंग कर सकते हैं | 

Exponential moving average कितने प्रकार के होते हैं ?

Exponential moving average 2 प्रकार के होते हैं – 

  • फास्टर मूविंग एवरेज (शॉर्ट-टर्म) जैसे – 5, 9, 8, 10, 20 इत्यादि
  • स्लोवर मूविंग एवरेज (लॉन्ग-टर्म) जैसे – 50, 100, 200 इत्यादि 

 शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म मूविंग एवरेज का नामकरण 2 मूविंग एवरेज को लेकर किया गया है | 

अगर हम 50 ema और 5 ema को लेते हैं तो इन दोनों में 5 ema को शॉर्ट टर्म मूविंग एवरेज कहा जाएगा और 50 ema को लॉन्ग टर्म मूविंग एवरेज कहा जाएगा |

शॉर्ट शॉर्ट मूविंग एवरेज हमे शॉर्ट टर्म का ट्रेंड बताएगा और लॉन्ग टर्म मूविंग एवरेज लॉन्ग टर्म का ट्रेंड बताएगा | 

Exponential moving average indicator in hindi से ट्रेंड का पता कैसे लगाए ? 

जब भी किसी स्टॉक का प्राइस अगर Exponential moving average indicator से  ऊपर रहता है तो इससे  यह पता चलता है कि वह शेयर अपट्रेंड में है और बुलिश है |  

जब भी किसी शेयर का दाम अगर Exponential moving average indicator से नीचे रहता है तो Ema Indicator in hindi यह बताता है कि यह शेयर डाउन ट्रेंड में है और बेयरिश है |

अभी तक आपने जाना कि ema indicator kya hota hai, ema indicator कितने प्रकार का होता है | 

इसके अलावा आप ema से ट्रेंड निकालना भी जान गए हैं तो चलिए अब हम Exponential moving average strategy के बारे में जानते हैं | 

Ema trading strategy in hindi

इस वाले खंड में हम आपको अलग – अलग ema trading strategy के बारे में बताएंगे जैसे कि –  ema for day trading, ema indicator for intraday, Exponential moving average crossover strategy, double ema indicator in hindi इत्यादि | 

Ema Strategy for Scalping

वैसे तो बहुत प्रकार की ट्रेडिंग होती है पर Scalping एक ऐसी ट्रेडिंग स्टाइल है जिसमे आपको तुरंत शेयर को खरीद कर बेचना पड़ता है | इसमे आप 1 मिनट से 5 मिनट का टाइम फ्रेम इस्तेमाल कर सकते हैं | 

Scalping के लिए आप 10 ema indicator setup का इस्तेमाल कर सकते हैं | इस स्ट्रैटिजी आपको buy और sell तब करना है जब ema indicator ऊपर की तरफ बढ़ता हो या नीचे की तरफ गिरता हो |  

इसे आप नीचे दिए गए चित्र से समझ सकते हैं | 

मान लीजिए जब ema ऊपर की तरफ बढ़ रहा है तब उसमे अगर लाल कैंडल बनती है और अगली हरी कैंडल बनती है और लाल कैंडल के हाई को तोड़ती है तब आपको उसमे खरीदारी करनी है और लाल कैंडल के लो का स्टॉप – लॉस लगाना है | 

अगर ema indicator in hindi नीचे गिरता हुआ है तो आपको अब हरे कैंडल बनने का इंतेज़ार करना है और जैसे ही अगले कैंडल में इसका लो टूटता है तो आपको अपनी short position बना लेनी है | 

इसमे आप हरे कैंडल के हाई का स्टॉप – लॉस लगा सकते हैं और जैसे ही आपकी position प्रॉफ़िट में आती है वैसे ही आप 10 ema को trailing stop – loss के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं | 

इस स्ट्रैटिजी को आप scalping में तो इस्तेमाल कर ही सकते हैं पर उसके साथ – साथ इसे आप swing trading में भी  इस्तेमाल कर सकते हैं | 

अगर आप इस ema strategy को स्विंग ट्रेडिंग में इस्तेमाल करते हैं तो आपको डेली या वीकली टाइम फ्रेम का इस्तेमाल करना पड़ेगा | 

Ema Strategy for day Trading (5 ema strategy in hindi)

अगर आप 5 ema strategy in hindi के बारे में खोज रहे हैं जैसे कि 5 ema को कैसे इस्तेमाल करना है (how to use 5 ema indicator in hindi) तो इस वाले खंड में आपको इसका जवाब मिल जाएगा | 5 ema strategy in hindi को power of stocks चैनल के संस्थापक शुभाशीष जी द्वारा बताया गया है |

यह एक तरह का reversal setup है | इसका मतलब यह हुआ कि इससे आप ट्रेंड के उलटे साइड ट्रेड लेंगे | इसी में, मैं आपको best ema settings for scalping के बारे में बताऊँगा |

अगर आप 5 ema indicator setup से सेलिंग (शॉर्ट) करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 5 मिनट के टाइम फ्रेम को इस्तेमाल करना है | इस ema intraday strategy से आपको अच्छे रीवर्सल ट्रेड मिल सकते हैं |

अगर आप शॉर्ट करना चाहते हैं तो आपको ऐसी कैंडल का इंतज़ार करना है जो 5 ema को बिना छूए ऊपर भी तरफ बंद होनी चाहिए | यह आपका अलर्ट कैंडल होगा |

अब आपको अगली कैंडल बनने का इंतज़ार करना है | अगर अगली कैंडल पिछले वाले कैंडल का लो तोड़ती है तो आपको इसमे अपनी short position बना लेनी है और स्टॉप – लॉस आप अलर्ट कैंडल के हाई का रख सकते हैं |

अगर आप 5 ema indicator से buying करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 15 मिनट के टाइम फ्रेम को देखना है |

long position बनाने के लिए आपको 15 मिनट के ऐसी कैंडल को देखना है जिसका क्लोज़िंग प्राइस 5 ema से नीचे हो और जिसका हाई 5 ema को छु नहीं रहा हो |

जब आपको ऐसी कैंडल बनती दिख जाए तो यह आपके लिए अलर्ट कैंडल होगी और जैसे ही अगली कैंडल इसके हाई को तोड़ती है वैसे आपको अपनी लॉंग position बना लेनी है, जिसमे आपका स्टॉप – लॉस कैंडल का लो होगा |

अगर 5 ema trading strategy को हम best ema strategy for intraday trading कहेंगे तो गलत नहीं होगा | अगर हम ema indicator success rate की बात करें तो यह 60 से 65% है |

Best Ema crossover strategy for swing trading 

आप ऊपर वाली स्ट्रैटिजी से भी स्विंग ट्रेडिंग कर सकते हैं, परंतु इस वाले खंड में मैं आपको best ema crossover strategy for swing trading के बारे में बताऊँगा | 

इसमे आपको double ema indicator का इस्तेमाल करना है जिसमे आपका एक ema शॉर्ट टर्म वाला होगा और दूसरा ema लॉंग टर्म वाला होगा | 

इसमे आप 13 ema और 34 ema का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर आप 20 ema और 50 ema indicator in hindi का इस्तेमाल कर सकते हैं | यही आपकी ema settings for swing trading होगी | 

आपको खरीदने का विचार तभी करना है जब प्राइस लॉंग टर्म Exponential moving average के ऊपर हो और जब प्राइस शॉर्ट टर्म ema के पास आती है तो और बुलिश कैंडल का निर्माण करती है तो आपको और खरीदना है | 

अपने ट्रेड से बाहर निकलने के लिए आप लॉंग – टर्म ema का इस्तेमाल कर सकते हैं |  जैसे ही प्राइस लॉंग टर्म ema के नीचे आ जाए वैसे ही आप उस position से निकल सकते हैं | 

Ema strategy for Swing Trading

वैसे आप triple ema indicator का इस्तेमाल कर के भी स्विंग ट्रेडिंग कर सकते हैं | इसमे आपको 20 ema, 50 ema और 200 ema का इस्तेमाल करना है |

आपको ऐसा स्टॉक ढूड़ना है जो इन तीनों ema से ऊपर हो | ऐसा मैं इसलिए बोल रहा हूँ क्यूँकी –

20 ema हमे स्टॉक का शॉर्ट टर्म ट्रेंड बताता है, 50 ema मीडीअम ट्रेंड बताता है और 200 ema लॉंग टर्म ट्रेंड बताता है |

जब स्टॉक का प्राइस इन तीनों exponential moving average indicator in hindi के ऊपर होगा तो इससे हमे यह पता चल जाएगा की स्टॉक अपट्रेंड में है |

जब हमे स्टॉक मिल जाए तो उसके बाद हमे इसमे चार्ट पैटर्न को देखना है, breakout का इंतज़ार करना है या फिर 20 ema के retracement पर बुलिश कैंडल देखकर ट्रेड लेना है |

Ema indicator in Hindi FAQ

स्विंग ट्रेडिंग के लिए कौन सा ईएमए इस्तेमाल करें ?

स्विंग ट्रेडिंग के लिए आप 10 ema, 20 ema, 50 ema और 200 ema को इस्तेमाल कर सकते हैं |

स्विंग ट्रेडिंग के लिए सबसे बढ़िया ईएमए कौन है ?

स्विंग ट्रेडिंग के लिए सबसे बढ़िया ema 20 और 200 है |

ईएमए इंदीकेटर को चार्ट में कैसे समझे ?

ema indicator से आप ट्रेंड को समझ सकते हैं | अगर प्राइस ema से ऊपर है तो मतलब अपट्रेंड है और अगर प्राइस नीचे हैं तो स्टॉक डाउन ट्रेंड में है |

मेरा नाम कौशल कुमार है और मैं इस वेबसाईट का संस्थापक हूँ | मैं इस वेबसाईट के माध्यम से आप सभी को शेयर मार्केट की बारीक जानकारियों को बताना चाहता हूँ जिससे आप भी शेयर मार्केट से पैसे कमा सकें | मैं शेयर मार्केट में काफी समय से काम कर रहा हूँ और मेरा उद्देश है कि अपने अनुभव को आप तक पहुंचा सकूँ |

3 thoughts on “Ema Indicator in Hindi (सम्पूर्ण जानकारी)”

Leave a Comment